• सोमवार , 27:01:2020
  • Contact
  • लखनऊ, 27 o C
logo
logo
उत्तर प्रदेश पुलिस ने गुरुवार को बागपत जिले से एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया, जो दुष्कर्म पीड़िता पर दिल्ली की एक अदालत में शुक्रवार को बयान नहीं देने के लिए कथित तौर पर पोस्टर लगाकर दबाव बनाने की कोशिश कर रहा था
Blog single photo

बागपत: उत्तर प्रदेश पुलिस ने गुरुवार को बागपत जिले से एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया, जो दुष्कर्म पीड़िता पर दिल्ली की एक अदालत में शुक्रवार को बयान नहीं देने के लिए कथित तौर पर पोस्टर लगाकर दबाव बनाने की कोशिश कर रहा था। पीड़िता ने अपने घर के बाहर पोस्टर चिपकाए जाने के बाद सुरक्षा की मांग की और मुख्यमंत्री से अपील की, जिसके बाद उसे सुरक्षा दी गई। पोस्टर में मामले में गवाही देने पर उसके साथ 'उन्नाव जैसी घटना' की चेतावनी दी गई थी।

पीड़िता से बीते साल राष्ट्रीय राजधानी के मुखर्जी नगर में दुष्कर्म किया गया था। पुलिस अधीक्षक (एसपी) प्रताप गोपेंद्र ने कहा कि मंगलवार रात को पीड़िता ने पुलिस को सूचित किया कि आरोपी सोहरन सिंह उसके गांव से है। एसपी ने कहा, "उसने कहा कि यह घटना एक साल पहले हुई, जब सोहरन उसे एक दोस्त के घर ले गया, जहां उसके पेय में नशीला पदार्थ मिलाकर पिलाया गया और इसके बाद दुष्कर्म किया गया। आरोपी ने इस घटना का एक वीडियो बनाया और उसका इस्तेमाल ब्लैकमेल करने के लिए किया और पीड़ित से फिर से दुष्कर्म किया।"

सिंह को पूर्व में गिरफ्तार किया गया था और दिल्ली पुलिस द्वारा जेल भेजा गया था। बुधवार देर सोहरन सिंह जमानत पर रिहा हुआ और इसी दौरान पोस्टर लगाए गए। आरोपी को बड़ौत में फिर से गिरफ्तार किया गया। पोस्टरों को लेकर जांच के आदेश दिए गए हैं। आरोपी व्यक्ति ने कहा कि गांव के कुछ विरोधियों ने पोस्टरों का इस्तेमाल उसे फंसाने के लिए किया है।

हाल की टिप्पणियां

टिप्पणियां दें

2500
footer
Top