• सोमवार , 27:01:2020
  • Contact
  • लखनऊ, 27 o C
logo
logo
नागरिकता संशोधन विधेयक (कैब) के संसद से पास होने के बाद असम के ब्रह्मपुत्र घाटी में बिगड़े हालात पर काबू पाने में विफल रहे अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून-व्यवस्था) मुकेश अग्रवाल और गुवाहाटी के पुलिस कमिश्नर दीपक कुमार को सरकार ने हटा दिया है
Blog single photo

गुवाहाटी: नागरिकता संशोधन विधेयक (कैब) के संसद से पास होने के बाद असम के ब्रह्मपुत्र घाटी में बिगड़े हालात पर काबू पाने में विफल रहे अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून-व्यवस्था) मुकेश अग्रवाल और गुवाहाटी के पुलिस कमिश्नर दीपक कुमार को सरकार ने हटा दिया है। इसके साथ ही गुवाहाटी के चारों डीसीपी का भी तबादला कर दिया गया है।

अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून-व्यवस्था) मुकेश अग्रवाल के स्थान पर दिल्ली में प्रतिनियुक्ति पर तैनात असम कैडर के आईपीएस अधिकारी जीपी सिंह को केंद्र सरकार ने गुवाहाटी भेजा है। मुकेश अग्रवाल काे एडीजीपी (सीआईडी) पद पर स्थानांतरित किया गया है। एडीजीपी जीपी सिंह ने गुरुवार की सुबह गुवाहाटी पहुंचकर पदभार संभाल लिया है। साथ ही पुलिस के शीर्ष अधिकारियों के साथ बैठक भी की है।

दीपक कुमार के स्थान पर गुवाहाटी के नये पुलिस कमिश्नर के रूप में मुन्ना प्रसाद गुप्ता को तैनात किया गया है। इसके साथ ही गुवाहाटी के चारों डीसीपी का भी तबादला किया गया है। उधर, गुवाहाटी में गुरुवार को कर्फ्यू के बावजूद बड़ी संख्या में आंदोलनकारियों ने सड़क पर उतरकर कई इलाकों में आगजनी व तोड़फोड़ की घटनाओं को अंजाम दिया है। पुलिस ने कुछ इलाकों में हवाई फायरिंग कर उपद्रवियों को भगाया है। इसके बावजूद प्रदर्शन जारी है।

उल्लेखनीय है कि कैब के मुद्दे पर हो रहे विरोध-प्रदर्शनों के बीच गुवाहाटी, डिब्रूगढ़ में हालात खराब होने के बाद कर्फ्यू लगा दिया गया है। राज्य के 10 जिलों में धारा 144 लागू करने के साथ ही मोबाइल इंटरनेट सेवा को बंद कर दिया गया है। इसके बावजूद प्रदर्शनकारी जगह-जगह सड़कों पर उतरकर विरोध-प्रदर्शन कर रहे हैं। प्रदर्शनों के दौरान कई बार ऐसी स्थिति उत्पन्न हुई, जब पुलिस को फायरिंग करनी पड़ी। हालांकि, पुलिस बेहद सतर्कता के साथ फूंक-फूंककर कदम उठा रही है। यही कारण है कि आंदोलनकारियों के हौसले पस्त नहीं हो रहे हैं। गुवाहाटी में सुबह से ही हालात बिगड़े हुए हैं।

गौरतलब है कि आंदोलन में हिस्सा लेने वाले ज्यादातर लोग शहर के बाहर से आए हैं। कर्फ्यू के बीच भी बाहर से लोग शहर में कैसे प्रवेश कर गए, यह पुलिस की एक तरह से नाकामी को साबित कर रहा है।

हाल की टिप्पणियां

टिप्पणियां दें

2500
footer
Top