• शुक्रवार , 13:12:2019
  • Contact
  • लखनऊ, 27 o C
logo
logo
आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में जंक फूड अब हमारे रूटीन में शामिल हो चुका है
Blog single photo

लंदन: आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में जंक फूड अब हमारे रूटीन में शामिल हो चुका है। आजकल बर्गर हर किसी के फेवरिट फूड्स में से शामिल है। काम के बीच में यदि आपको भूख लगती है तो आप तुरंत बर्गर खा लेते है। परंतु ज्यादातर लोग बर्गर खाने के खतरों से अनजान हैं। भले ही आप इसे कभी-कभी ही क्यों ना खाते हों,लेकिन आपके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होता है। दरअसल, फास्ट फूड में आम तौर पर अत्यधिक संतृप्त और ट्रांस फैटी ऐसिड होते हैं, जो रोगों से लड़ने की क्षमता को प्रभावित करते हैं।

पर्याप्त फल खाने से ऐसी बीमारियों से बचा जा सकता है। यह ऐसा भोजन, जो संतृप्त वसा से भरा हुआ है, आपके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है। इस वसायुक्त भोजन को लगातार करने से धमनियां काफी बिगड़ जाती हैं, जिससे ब्लड फ्लो में बाधा उत्पन्न होती है। ब्लड फ्लो के इस प्रतिबंध से भविष्य में हृदय रोगों की संभावना बढ़ जाती है। बर्गर जैसे फास्ट फूड से बच्चों में अस्थमा, एग्जिमा, खुजली और आंखों से पानी आना जैसी बीमारियों का खतरा बढ़ता है।

बर्गर में कैलरी, वसा और अतिरिक्त सोडियम से भरे होते हैं। यह सभी आपके स्वास्थ्य पर बुरा असर डालते हैं। एक बर्गर में 500 कैलरी, 25 ग्राम वसा, 40 ग्राम कार्ब्स, 10 ग्राम चीनी और 1,000 मिलीग्राम सोडियम होता है, जो आपको बीमार करने के लिए काफी है। बर्गर की पहली बाइट खाने के 15 मिनट बाद आपके शरीर में ग्लूकोज की भारी वृद्धि हो जाती है। यह इंसुलिन रिलीज करने को बढ़ावा देता है, जिससे आपको कुछ ही घंटों में फिर से भूख लगती है। इस पैटर्न को दोहराने से मधुमेह का खतरा भी बढ़ सकता है।

एक बार में अत्यधिक कैलरी खाने से शरीर की कोशिकाओं पर ऑक्सिडेटिव तनाव पड़ता है। बर्गर के चलते फैट की अधिकता और विटामिन-डी और कैल्शियम की कमी हड्डियों को कमजोर कर देती है, जिससे हड्डियां टेढ़ी होने लगती हैं। बर्गर में मौजूद फैट, नमक या शुगर के चलते पेट तो भर जाता है लेकिन शरीर के लिए जरूरी प्रोटीन, विटमिन, कैल्शियम या मिनरल नहीं मिल पाते।

हाल की टिप्पणियां

टिप्पणियां दें

2500
footer
Top