• शुक्रवार , 20:09:2019
  • Contact
  • लखनऊ, 27 o C
logo
logo
कथित स्पॉट फिक्सिंग मामले में फंसे तेज गेंदबाज को बड़ी राहत मिली है
Blog single photo

नई दिल्ली: कथित स्पॉट फिक्सिंग मामले में फंसे तेज गेंदबाज को बड़ी राहत मिली है। दरअसल भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ने 36 वर्षीय क्रिकेटर श्रीसंत पर लगे आजीवन प्रतिबंध को घटाकर 7 साल कर दिया है। श्रीसंत पर लगा बैन 13 सितंबर 2020 को खत्म हो जाएगा। बीसीसीआई लोकपाल द्वारा जारी आदेश में कहा गया है कि श्रीसंत पर लगे प्रतिबंध को घटाकर सात साल करने का फैसला किया गया है। श्रीसंत पर 13 सितंबर 2013 को आजीवन बैन लगा था।

श्रीसंत के अलावा आईपीएल में कथित तौर पर स्पॉट फिक्सिंग के आरोप में राजस्थान रॉयल्स के अजीत चंदीला और अंकित चव्हाण पर भी प्रतिबंध लगाया गया था। उच्चतम न्यायालय ने इस साल 15 मार्च को बीसीसीआई की अनुशासन समिति का फैसला बदल दिया था। अब 7 अगस्त के अपने फैसले में जैन ने कहा कि यह प्रतिबंध 7 वर्ष का होगा और वह अगले साल क्रिकेट खेल सकेंगे।

6 फरवरी 1983 को जन्मे श्रीसंत 36 वर्ष के हैं। अगले साल जब उन पर लगा प्रतिबंध हटेगा तो वह 37 साल के हो चुके होंगे, ऐसे में वे शायद ही भारतीय टीम में वापसी कर पाए, लेकिन अपने ऊपर लगे आरोपों से जरूर मुक्त हो जाएंगे। मार्च 2019 को श्रीसंत पर सुप्रीम कोर्ट ने आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग मामले में आजीवन प्रतिबंध हटा दिया था।

हाल की टिप्पणियां

टिप्पणियां दें

2500
footer
Top