• शुक्रवार , 20:09:2019
  • Contact
  • लखनऊ, 27 o C
logo
logo
जौहर विश्वविद्यालय और सांसद आजम खान के खिलाफ की जा रही कार्रवाई के विरोध में समाजवादी पार्टी (सपा) एक अक्टूूबर से तहसील स्तर पर प्रदर्शन करेगी
Blog single photo

लखनऊ: जौहर विश्वविद्यालय और सांसद आजम खान के खिलाफ की जा रही कार्रवाई के विरोध में समाजवादी पार्टी (सपा) एक अक्टूूबर से तहसील स्तर पर प्रदर्शन करेगी। इससे पहले नौ सितम्बर को सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव रामपुर जाकर आजम खान के परिवार से मिलेंगे।

इस संबंध में सपा अध्यक्ष का कहना है कि मोहम्मद आजम खान के खिलाफ बदले की कार्रवाई, बढ़ती मंहगाई, भ्रष्टाचार, किसानों की बदहाली, ध्वस्त कानून व्यवस्था, बेरोजगारी आदि 11-सूत्री मांगों को लेकर समाजवादी पार्टी एक अक्टूबर को धरना देगी।

सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि सपा द्वारा 09 अगस्त, 2019 को प्रदेश की जनसमस्याओं को लेकर जिला मुख्यालयों पर शांतिपूर्ण धरना दिया गया था लेकिन सरकार के कान पर जूं नहीं रेंगी। समस्याओं के समाधान के बजाय एक सितम्बर से बिजली की दरों में बढ़ोतरी कर दी गई, ट्रैफिक सुधार के नाम पर भारी जुर्माना लगा दिया गया। भाजपा सरकार बदले की भावना से सांसद मोहम्मद आजम खान के खिलाफ कार्रवाई कर रही है। जौहर अली विश्वविद्यालय को नेस्तनाबूद करने की साजिश हो रही है। ऐसी स्थिति में 11 सूत्री मांगों को लेकर धरना के माध्यम से गूंगी-बहरी भाजपा सरकार को जगाने का काम किया जायेगा।

उन्होंने कहा कि भाजपा राज में मंहगाई चरम पर है। डीजल-पेट्रोल, रसोई गैस सभी के दाम बढ़ते जा रहे हैं। ग्रामीण कृषि श्रेणी के उपभोक्ताओं को अब पहले से 15 फीसद अधिक बिजली बिल का भुगतान करना पड़ेगा। यातायात को नियमित-नियंत्रित करने के नाम पर वाहन की कीमत से ज्यादा जुर्माना वसूला जाने लगा है।

सपा जनता के हितों के साथ खिलवाड़ कतई बर्दाश्त नहीं करने वाली है। एक अक्टूबर को राज्य की प्रत्येक तहसील पर शांतिपूर्ण ढंग से भारी तादाद में जनभागीदारी के साथ धरना देकर भाजपा सरकार की जनविरोधी नीतियों का भी पर्दाफाश किया जाएगा। सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव 9 सितम्बर को रामपुर जाएंगे और 9-10 सितम्बर की रात वहीं विश्राम करेंगे।

हाल की टिप्पणियां

टिप्पणियां दें

2500
footer
Top